भारत की क्रिप्टोकोर्रेंसी के बारे मे जाने नाम, कब होगी शुरुआत, क्या प्राइस (कीमत) होगी भारतीय क्रिप्टोकोर्रेंसी की।

भारत की क्रिप्टोकोर्रेंसी के बारे मे जाने नाम, कब होगी शुरुआत , क्या प्राइस ( कीमत ) होगी भारतीय क्रिप्टोकोर्रेंसी की।
भारत की क्रिप्टोकोर्रेंसी

दुनिया भर में क्रिप्टो करेंसी के यूजर बढ़ रहे है तो भारत में भी क्रिप्टोकोर्रेंसी को काम में लेने वाले बढ़ रहे है। और जैसे की हमे पता है की क्रिप्टो करेंसी ब्लॉकचैन पर आधारित है जिसकी वजह से हम क्रिप्टोकोर्रेंसी को कंट्रोल नहीं कर सकते है और न ही ट्रांसेकशन को ट्रैक कर सकते है।

अगर किसी चीज को हम ट्रैक नहीं कर प् रहे है तो फिर उसकी वजह से होने वाले क्रिप्टो के स्कैम को भी हम कण्ट्रोल नहीं कर सकते है। जब कंट्रोल किसी के हाथ में नहीं होता है तो फिर भारत में होने वाले क्रिप्टो के स्कैम से बचना थोड़ा मुश्किल हो जाता है , हालाँकि क्रिप्टो एक्सचेंज के जरिये बहुत में और बहुत सारे देशो में क्रिप्टो करेंसी के लेन देन को देखा जा सकता है की किस एक्सचेंज से क्रिप्टो का लेन देन किया जा रहा है (क्रिप्टो एक्सचेंज पर kyc करवाने का मुख्य कारण भी यही है)।

भारत सरकार ने तो क्रिप्टो करेंसी के ट्रांसेकशन पर 30 % टैक्स भी लगा रखा है लेकिन फिर भी क्रिप्टो को पूरी तरह से कंट्रोल नहीं किया जा सकता है। सरकार क्रिप्टो करेंसी को भारत में बेन भी नहीं कर सकती है क्युकी इसके बहुत सारे कारण है , जिनके बारे में आपको इस वीडियो में जानकारी मिल जाएगी की भारत सरकार क्रिप्टोकोर्रेंसी को बेन क्यों नहीं कर सकती है।

हालाँकि सभी Cryptocurrency होल्डर को परेशान होने की जरूरत नहीं है क्युकी भारत सरकार क्रिप्टो को बंद नहीं करने वाली है। लेकिन बाकि दूसरे क्रिप्टोकोर्रेंसीयो की वजह से जो दिक्क़ते आ रही है उसको दूर करने के लिए भारत सरकार खुद का क्रिप्टो करेंसी लॉन्च करने वाली है इसके बारे में सरकार पहले से ही जानकारी दे चुकी है की वो इंडियन क्रिप्टो करेंसी लाने वाली है जो की भारत में होने वाली क्रिप्टो स्कैम को काम कर सकती है। इसके बारे में और भी बहुत सारी जानकारी सरकार की तरफ से दी जा चुकी है.

लेकिन वो जानकारी हिंदी में उपलब्ध नहीं होने की वजह से हमे समझने में दिक्क्त होती है। लेकिन आपको टेंशन लेने की जरूरत नहीं है क्युकी cryptomarketbag पर आपको क्रिप्टोकोर्रेंसी की सारी जानकारी हिंदी भाषा में मिल जाएगी।

इस पोस्ट में हम भारत की क्रिप्टोकोर्रेंसी के बारे में बात करने वाले है। जिसमे आपको भारत की सरकार के क्या क्या प्लान है क्रिप्टोकोर्रेंसी को लेकर और साथ में ये भी जानेंगे की भारत सरकार कौनसी क्रिप्टो करेंसी लॉन्च करने वाली है जो की पूर्ण रूप से एक भारतीय क्रिप्टोकोर्रेंसी है।

भारतीय क्रिप्टोकोर्रेंसी का क्या नाम है ?

भारत सरकार ने क्रिप्टोकोर्रेंसी लॉन्च करने की घोसणा बहुत पहले से ही कर दी है जिसको की सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी के नाम से जाना जाता है। भारतीय क्रिप्टोकोर्रेंसी का नाम CBDC हो सकता है।

सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी CBDC कैसे काम करता है।

CBDC जिसका पूरा नाम सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी है , ये एक भारतीय क्रिप्टो करेंसी है जो की की पूर्ण रूप से एक डिजिटल करेंसी होगी और इसको कागज के नोट के बदले भी ले सकते है। हालाँकि अभी तक सरकार की तरफ से इसके काम करने के बारे में पूरी जानकारी सामने नहीं आयी है लेकिन कहा जा सकता है की ये करेंसी पूरी तरह से आपके डिजिटल वॉलेट में स्टोर रहेगी और जिसको भी आप ये भेजना चाहोगे उसको आप आसानी से भेज पाओगे। ये पूर्ण रूप से ब्लॉकचैन पर आधारित होगी साथ में इसका भी एक लीगल टेंडर होगा।

क्या भारतीय क्रिप्टो करेंसी सरकार के द्वारा कंट्रोल की जाएगी।

दोस्तों सभी के मन में ये सवाल जरूर से आया होगा की जब सरकार अपनी खुद की क्रिप्टोकोर्रेंसी लॉन्च करने वाली है तो क्या सरकार इस तरह से करेंसी को खुद कण्ट्रोल करेगी या नहीं। तो इसका जवाब है हाँ , सरकार का इस क्रिप्टोकोर्रेंसी पर पूरा कण्ट्रोल होगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published.